sukanya samriddhi yojana haryana 2024 आज से नहीं काम करेगा इन लोगों का अकाउंट; क्या है वजह और कैसे करें दोबारा एक्टिव
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

sukanya samriddhi yojana haryana 1 अप्रैल 2024 को कई Public Provident Fund National Pension Account और Sukanya Samriddhi Account इनएक्टिव हो गए हैं। दरअसल जिन यूजर ने पिछले वित्त वर्ष में इन अकाउंट में मिनिमम अमाउंट डिपॉजिट नहीं किया है उन सबका अकाउंट फ्रीज गया है। चलिए जानते हैं कि इन अकाउंट में मिनिमम डिपॉजिट कितने का होता है और इनएक्टिव अकाउंट दोबारा एक्टिव कैसे करें। पढ़े पूरी खबर..

आज से नया वित्त वर्ष 2024-25 शुरू हो गया है। इस वित्त वर्ष के शुरुआत में ही कई पीपीएफ (PPF Account), एनपीएस (NPS Account), सुकन्या (Sukanya Account) अकाउंट होल्डर का अकाउंट फ्रीज हो गया है।

sukanya samriddhi yojana haryana

👉अभी चालू करे अपना अकाऊंट👈

क्यों इनएक्टिव हुआ अकाउंट

  • नियमों के अनुसार अगर इन सभी स्कीम होल्डर एक वित्त वर्ष में अपने अकाउंट में मिनिमम बैलेंस डिपॉजिट नहीं करते हैं तो उनका अकाउंट इनएक्टिव हो जाएगा।
  • इसका मतलब है कि जिन यूजर ने पिछले वित्त वर्ष में मिनिमम अमाउंट डिपॉजिट किया है उनका अकाउंट इनएक्टिव नहीं हुआ है। इसके विपरीत जिन यूजर ने अकाउंट में मिनिमम अमाउंट डिपॉजिट नहीं किया है उनका अकाउंट फ्रीज हो गया है।
  • बता दें कि अगर अकाउंट फ्रीज हो जाता है तो स्कीम में मिल रहे सभी लाभ भी बंद हो जाते हैं। यानी कि अगर स्कीम में टैक्स बेनिफिट (Tax Benefit) मिल रहा है तो वो भी अकाउंट के इनएक्टिव होने के बाद बंद हो जाएगी।

मोदी सरकार बांट रही बिना गारंटी वाला ₹3 लाख का लोन, जानें

कितना है मिनिमम अमाउंट

sukanya samriddhi yojana haryana सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) में निवेशक एक साल में अधिकतम 1.5 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं। वहीं न्यूनतम उन्हें 250 रुपये का निवेश करना होता है। एनपीएस (national pension system) अकाउंट में निवेशक को न्यूनतम 500 रुपये का निवेश करना होता है। इस स्कीम में अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। पीपीएफ (Public Provident Fund) अकाउंट में भी निवेशक को 500 रुपये का कम से कम निवेश करना होता है। इसमें एक वित्त वर्ष में 1.5 लाख रुपये से ज्यादा का निवेश नहीं किया जा सकता है।

👉जनिए योजना की पुरी जानकारी👈

कैसे करें अकाउंट को एक्टिव sukanya samriddhi yojana haryana

अगर आपका पीपीएफ, एनपीएस या फिर सुकन्या अकाउंट इनएक्टिव हो गया है तो उसे दोबारा एक्टिव करने के लिए आपको न्यूनतम राशि के साथ पेनल्टी का भुगतान करना होगा। इन स्कीम में न्यूनतम राशि न जमा करने पर 50 रुपये प्रति वर्ष की पेनल्टी लगती है।

युनियन बँकेने लॉन्च केले महिलांसाठी स्पेशल क्रेडिट कार्ड! महिलांना मिळतील भरपूर फायदे?

उदाहरण के तौर पर अगर किसी व्यक्ति का एनपीएस अकाउंट 2 साल से बंद है तो उसे इस अकाउंट को दोबारा शुरू करने के लिए 50 रुपये प्रति वर्ष के हिसाब से 100 रुपये की पेनल्टी और न्यूनतम राशि यानी कि 1,000 रुपये का भुगतान करना होगा।

3 लाख रुपये तक का पर्सनल लोन

sukanya samriddhi yojana haryana इसका मतलब है कि अकाउंट को दोबारा एक्टिव करने के लिए यूजर को 1,100 रुपये का भुगतान करना होगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!